Israel Attack: 7 हजार रॉकेट दागे, लड़ाकों ने कई घर पर कब्ज़ा किया… हमास के अचानक हमले में कहां चूका इजराइल का खुफिया विभाग?

Israel-Palestine Conflict:HN/ इजराइल पर हमास के हमले को आने वाले कई सालों तक खुफिया विफलता के तौर पर याद किया जाएगा. योम किप्पुर युद्ध की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर हमास के लड़ाकों ने जिस तरह से दनादन रॉकेट बरसाए, वह दर्शता है कि इजराइल के इंटेलिजेंस में बड़ी चूक हुई.

द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, घंटेभर के अंतराल में हमास ने इजराइल के कई महत्वपूर्ण हिस्सों पर कब्जा कर लिया. इसके साथ ही जिस तरह से शनिवार की सुबह हमास ने रॉकेट बरसाए और इजराइली खुफिया विभाग को भनक तक नहीं लगी, वह हमास के लड़ाकों की प्लानिंग को भी दर्शाता है. रिपोर्ट के अनुसार, हमास के बंदूकधारियों ने दक्षिणी सीमावर्ती समुदायों में इजराइलियों का अपहरण किया और उनकी हत्या कर दी.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं भयावह तस्वीरें

रिपोर्ट के अनुसार, फिलहाल इजराइल के स्थानीय लोग जिन परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं, इसके बारे में उन्होंने कभी कल्पना तक नहीं की होगी. उन्हें इस बात का अंदाजा कभी नहीं रहा होगा कि कभी उनके घरों में घुसकर हमास के लड़ाके उनके साथ ऐसा बर्ताव करेंगे. सोशल मीडिया पर फिलहाल जो तस्वीरें वायरल हो रहीं हैं, उनमें देखा जा सकता है कि कैसे हमास के बंदूकधारी इजराइली नागरिकों पर जुल्म ढा रहे हैं.

 

हमास और फिलिस्तीनी समाज पर खास निगरानी रखता था इजराइल 

यह सब कुछ हैरान करने वाला इसलिए भी है क्योंकि इजराइल का खुफिया विभाग विशेष तौर पर हमास और फिलिस्तीनी समाज पर निगरानी रखता है, ऐसे में इतना बड़ा हमला इजराइल के खुफिया विभाग पर सवाल खड़े करता है. बता दें कि इजराइल के लिए हमास की गतिविधि पर नजर रखना सबसे महत्वपूर्ण कार्यों में से एक है.

खुफिया एजेंसी से हुई चूक 

द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, कब्जे वाले फिलिस्तीनी क्षेत्रों में इजराइल के मुखबिर काम करते हैं, यह बात खुद इजराइली अधिकारियों ने कई मीडिया इंटरव्यू में बताई है. वहीं, इजराइल की सर्विलांस टेक्नोलॉजी को मजबूत माना जाता है, लेकिन यह हमास के हमले के दौरान धरी की धरी रह गई.

रिपोर्ट के अनुसार, इजराइली नौसेना के पूर्व प्रमुख एली मैरोन ने लाइव टेलीविजन पर कई सवाल उठाए. उन्होंने कहा, “पूरा इजराइल खुद से पूछ रहा है कि आईडीएफ (Israel Defense Forces) कहां है, पुलिस कहां है, सुरक्षा कहां है? यह एक बहुत बड़ी विफलता है.”

हालांकि दूसरा पहलू यह भी है कि हमास ने इजराइल की कमियों पर लंबे समय तक नजर रखी और जब उनकी प्लानिंग पुख्ता हो गई तब उसने हमला बोल दिया. गौरतलब है कि हमास ने शनिवार (7 अक्टूबर) को 7,000 रॉकेट लॉन्च किए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कम से कम 40 लोगों की मौत हुई है. वहीं, दूसरी तरफ इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने भी युद्ध का ऐलान कर दिया है. हाईन्यूज़ !

’18 महीने में चिट फंड की पाई-पाई वापस कराएगी BJP’, ओडिशा की जनता से अमित शाह ने किया वादा

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव 2024 के सातवें चरण से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मंगलवार (28 मई) को उड़ीसा के दौरे पर पहुंचे.

Read More »

सीएम केजरीवाल के जेल से बाहर आने के सवाल पर पीएम मोदी ने दिया जवाब, जानें क्या बोले

PM Modi Interview: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को शराब नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अंतरिम जमानत मिलने को

Read More »

बिहार में कांग्रेस की लगेगी नैया पार? प्रशांत किशोर ने कर दी बड़ी भविष्यवाणी

Prashant Kishor on Rahul Gandhi: लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण की वोटिंग से पहले राजनीतिक विश्लेषक प्रशांत किशोर ने बिहार में कांग्रेस की स्थिति पर

Read More »