अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले से यरुशलम में फीका रहा क्रिसमस डे

बेथलेहम/यरुशलम: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के हालिया फैसले के बाद क्रिसमस के मौके पर लोगों में पहले जैसा उत्साह नहीं हैं. लेकिन ट्रंप के फैसले के बाद क्रिसमस के मौके पर यहां का माहौल पूरी तरह बदल गया है. पहले क्रिसमस के दिन यरुशलम में हजारों की तदाद में लोग आते थे.

कभी चर्च में क्रिसमस के दिन होने वाली प्रार्थना के बाद मंगेर स्क्वायर पर पर्यटक और स्थानीय लोगों में जगह के लिए धक्का-मुक्की होती थी. लेकिन इस बार यह जगह खाली पड़ी थी. स्थानीय दुकानदारों के चेहरों पर निराशा छाई हुई है और खरीददार नजर नहीं आ रहे. ईसा मसीह से जुड़ी चीजें बेचनेवाले माइकल कुमसियेह ने इस स्थिति के लिए डोनाल्ड ट्रंप को दोषी ठहराया है.

कुमसियेह ने कहा, ‘ वह सिर्फ समस्या उत्पन्न करते हैं. वह किसी चीज का समाधान नहीं करते हैं.’ यहां कॉफी बेचने वाले कादेर ने कहा, ‘काफी खराब स्थिति है. कोई जश्न नहीं, कोई पर्यटक नहीं और सभी लोग उदास हैं.’

आप को बता दें कि ट्रंप ने 6 दिसंबर को यरुशलम को इस्राइल की राजधानी घोषित किया था. उसके बाद इस क्षेत्र में हिंसा भड़क गयी और दुनियाभर में विरोध प्रदर्शन हुए हैं.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *