झाँसी नगर निगम में हो होगा त्रिकोड़ीये मुकाबला फाइट में होंगे ब्रजेन्द्र व्यास, प्रदीप जैन और रामतीर्थ सिंघल ! आम आदमी पार्टी हुई साफ़, सपा पड़ी कमज़ोर

हाई न्यूज़ विश्लेषण

उत्तर प्रदेश (हाई न्यूज़) झांसी में चल रहे नगर निगम के चुनाव में मुख्य मुकाबला बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार बृजेंद्र व्यास उर्फ डमडम महाराज तथा कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार प्रदीप जैन और भाजपा के प्रत्याशी रामतीर्थ सिंघल के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होगा, इस चुनाव में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार मुकाबले में कही नजर नहीं आरहे है और समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राहुल सक्सेना पिछड़ते हुए नजर आ रहे! झांसी का चुनाव बहुत ही रोमांचक ढंग से होगा और इस बार झांसी नगर निगम चुनाव के नतीजे बहुत ही चौंकाने वाले आएंगे, जनता का मूड अच्छी तरीके से कोई नहीं समझ पा रहा है ठीक समय पर क्या स्थिति बनती है यह तो वक्त आने पर ही पता चला है लेकिन वर्तमान में जो परिस्थितियां बनी हुई है उसमें यह साफ दिखाई दे रहा है कि मुकाबला त्रिकोणीय होगा और, जैसा की माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी ने जो प्रत्याशी मैदान में उतारा है प्रत्याशी है और मुकाबले में कहीं भी फाइट नहीं कर पाएंगे यही वजह है की सपा से जहाँ एक और अल्पसंख्यक हरिजन काफी संख्या में कट रहे है तो, दूसरी तरफ बीजेपी में भी अंदरुनी आक्रोश दिखाई दे रहा है,लेकिन बीजेपी दावा कर रही है कि हमारे अंदर कोई भी आक्रोस नहीं है और ना कोई कार्यकर्ता नाराज है वहीं दूसरी तरफ कयाश लगाए जा रहे हैं कि जा रहे हैं कि बीजेपी से रूठ गए कार्यकर्ता अंदरूनी तौर पर कांग्रेस और बीजेपी का समर्थन कर रहे और इसका फायदा पूरी तरह से कांग्रेस और बसपा को हो सकता है

देखना है कि यह चुनाव किस करवट बैठेगा यह तो तो भविष्य ही बताएगा, लेकिन परिणाम जो होंगे बहुत ही चौंकाने वाले होंगे ! आम आदमी पार्टी का शहर में कोई वजूद नहीं है और आप से जो प्रत्याशी नरेंद्र झा को मैदान में उतरा है वह बसपा से ठीक समय पर बात न बन पाने के कारण वह बसपा को छोड़कर आप से मैदान में आ गये कल तक उनकी क्षेत्र में स्थिति ठीक थी, लेकिन जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आती जा रही है आप का जनाधार गिरता जा रहा हैं ! बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार बृजेंद्र ब्यास को तो लोग पसंद कर रहे हैं लेकिन बसपा के वार्डो से खड़े प्रत्याशियों की हालत खस्ता हैं ! बृजेंद्र ब्यास की छवि है जनता मेंलोकप्रिय है  इसीलिए उनके भी इस फाइट में बने रहने की पूरी सम्भावना है, वही पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन भी जनता की नजरों में खरे उतरने का पूरा प्रयास कर रहे हैं उन्हें भी अच्छा खासा समर्थन हासिल है, ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बार नोटबंदी और जीएसटी का कुछ असर दिखाई देगा और व्यापारी वर्ग का झुकाव बसपा और कांग्रेस की ओर हो रहा है ! और इसका कुछ नुकसान बीजेपी हो सकता है, लेकिन सीधा मुकबला बीजेपी से ही होगा, अब यह तो आने वाला समय ही बताएगा की बाजी कौन बनेगा झाँसी का मेयर बस कुछ समय की बात है सबकुछ होगा साफ़ और झाँसी का मेयर होगा आपके सामने?

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *