हाई न्यूज़ मंथन: झाँसी नगर निगम में हो सकता कड़ा त्रिकोड़ीये मुकाबला फाइट में होगी ब्रजेन्द्र व्यास, प्रदीप जैन तथा नरेंद्र झा के बीच! सपा सपा हुई कमजोर

उत्तर प्रदेश (हाई न्यूज़) झांसी में चल रहे नगर निगम के चुनाव में मुख्य मुकाबला बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार बृजेंद्र व्यास उर्फ डमडम महाराज तथा कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार प्रदीप जैन और आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी नरेंद्र झा के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होगा इस चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राहुल सक्सेना तथा भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी रामतीर्थ सिंघल बिछड़ते हुए नजर आ रहे! झांसी का चुनाव बहुत ही रोमांचक ढंग से होगा और इस बार झांसी नगर निगम चुनाव के नतीजे बहुत ही चौंकाने वाले आएंगे, जनता का मूड अच्छी तरीके से कोई नहीं समझ पा रहा है ठीक समय पर क्या स्थिति बनती है यह तो वक्त आने पर ही पता चला है पता चलेगा लेकिन वर्तमान में जो परिस्थितियां बनी हुई है उसमें यह साफ दिखाई दे रहा है कि मुकाबला त्रिकोणीय होगा और जैसा की माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी ने जो प्रत्याशी मैदान में उतारा है एक कमजोर प्रत्याशी है और मुकाबले में कहीं भी फाइट नहीं कर पाएंगे यही वजह है की सपा से जहाँ एक और अल्पसंख्यक हरिजन काफी संख्या में कट रहे है तो, दूसरी तरफ बीजेपी में भी अंदरुनी आक्रोश दिखाई दे रहा है,लेकिन बीजेपी दावा कर रही है कि हमारे अंदर कोई भी आक्रोस नहीं है और ना कोई कार्यकर्ता नाराज है वहीं दूसरी तरफ लगाए जा रहे हैं कि जा रहे हैं कि बीजेपी से रूठ गए कार्यकर्ता अंदरूनी तौर पर कांग्रेस और बीजेपी का समर्थन कर रहे और इसका फायदा पूरी तरह से कांग्रेस और बसपा को हो सकता है

देखना है कि यह चुनाव किस करवट बैठेगा यह तो तो भविष्य ही बताएगा, लेकिन परिणाम जो होंगे बहुत ही चौंकाने वाले होंगे आम आदमी का मैनेजमेंट बहुत अच्छा चल रहा है और जनता ने आम आदमी पार्टी को भी कर पसंद कर रही है नरेंद्र झा घर-घर जा रहे हैं और लोगों का समर्थन भी मिल रहा है वहीं दूसरी तरफ ऐसी ही स्थिति बहुजन समाज पार्टी की भी है और बृजेंद्र ब्यास को तो लोग पसंद कर रहे हैं लेकिन बसपा के वार्डो से खड़े प्रत्याशियों की हालत खस्ता हैं ! बृजेंद्र ब्यास की छवि है जनता में अच्छी छवि है इसीलिए उनके भी पूरी संभावना इस फाइट में बने रहने की पूरी तरह से है, वही पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन भी जनता की नजरों में खरे उतरने का पूरा प्रयास कर रहे हैं उन्हें भी अच्छा खासा समर्थन हासिल है, ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बार नोटबंदी और जीएसटी का कुछ असर दिखाई देगा और व्यापारी वर्ग का झुकाव बसपा और कांग्रेस की ओर हो रहा है! और हो सकता है कि इसका नुकसान बीजेपी हो, जिसका सीधा सीधा फायदा कांग्रेस और बीजेपी को हो सकता है ! बृजेंद्र व्यास को जनता पसंद कर रही है पूर्व में गरोठा विधायक रह चुके हैं झांसी में भी उन्होंने अच्छी खासी जीत हुई थी, जिस बसपा का हाथ थामकर वह आज मैदान में है उसी बसपा ने दोबारा हुई काउंटिंग में हारे उन्हें मात्र 9 वोटो से हरवा दिया था!  इस बार बहुजन समाज पार्टी का ने उन्हें अपना झाँसी से महापौर का प्रत्याशी बनाया है तो यह मुकाबला ओर कांटे की टक्कर का हो गया अब देखना है कौन बाजी मारता है जल्दी ही पता लग जाएगा समाजवादी पार्टी की स्थिति वहुत ही कमजोर है जनता का मानना है की राहुल सक्सेना को राजनीति का अनुभव नही है वह पूरी तरह से अपने ही समाज के लोगों को नही जानते, फिर भी राहुल सक्सेना जनता पहुचने का पूरा प्रयास कर रहे है !

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *